उपसाधन प्रभाग लखनऊ
  • हमारे बारे में
  • सुविधाएँ
  • बाह्यस्रोतन
  • पुरस्कार
  • उत्पाद
  • सेवाएँ
  • ग्राहक
  • निर्यात
  • हमें संपर्क करें

संक्षिप्त इतिहास

एच.ए.एल. उपसाधन प्रभाग की स्थापना सन् 1970 में विभिन्न वायुयानों एवं इंजनों हेतु प्रणालियों एवं उपसाधनों को विनिर्मित करने के मूल उद्देश्य से की गई। वन्य वातावरण में निर्मित इस प्रभाग की सुविधाएँ       116, 000 वर्ग कि.मी. के निर्मित क्षेत्र तक फैली हैं। वर्तमान में यह प्रभाग 1400 प्रकार के विभिन्न उपसाधन विनिर्मित तथा मेंटेन कर रहा है।
वर्तमान में, उपसाधन प्रभाग में निम्नलिखित विमान प्रणालियों के विभिन्न उपसाधनों का विनिर्माण किया जा रहा  है:
हाइड्रॉलिक्स
ईंधन इंजन
• एयर कंडीशनिंग और दबाव
• उड़ान नियंत्रण
• व्हील और ब्रेक
• जायरो और बैरोमेट्रिक उपकरण
• विद्युत शक्ति उत्पादन और नियंत्रण प्रणाली
• अंडरकैरिएज
• ऑक्सीजन और इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम
• फ्यूल कंटेन्ट गेज आदि
 
प्रभाग विभिन्न देशों के 40 से अधिक लाइसेंसरों से प्रौद्योगिकी हस्तांतरण (ट्रांसफर ऑफ टेक्नोलॉजी) के अंतर्गत उपसाधनों का विनिर्माण व सर्विसिंग कार्य करता है। इसके अतिरिक्त विभिन्न प्रणालियों एवं उपसाधनों के अभिकल्प एवं विकास के लिए स्वदेशी क्षमता विकसित करने पर काफी जोर दिया गया है। यही क्षमता लाइट कॉम्बैट वायुयान (LCA) (वायुसेना व नौसेना वर्जन) तथा एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर (ALH) थल सेना, वायुसेना, नौसेना एवं असैनिक जैसे सभी वर्ज़न ) लाइट यूटिलिटी हेलीकॉप्टर (LUH), हिंदुस्तान टर्बो ट्रेनर (HTT -40) और IJT (इंटरमीडिएट जेट ट्रेनर) के लिए 400 से भी अधिक प्रकार के उपसाधनों के स्वदेशी डिजाइन एवं विकास के रूप में वृद्धि हुई।
 

अनुभव और कार्य प्रणाली

प्रभाग के पास एरोनॉटिकल एक्सेसरीज़ के निर्माण में 45 से अधिक वर्षों का अनुभव है जो इसे अंतर्राष्ट्रीय एरो इंजीनियरिंग उद्योग के लिए आदर्श भागीदार बनाता है।
प्रभाग में उच्च गुणवत्ता, विश्वसनीयता और लागत प्रभावकारिता के साथ ग्राहक के विनिर्देशों के लिए विभिन्न हाई-टेक घटकों, उपकरण  और प्रणालियों के लिए व्यापक विनिर्माण और डिजाइन क्षमताएँ हैं।
संस्थान के भीतर सूचना / डेटा के सुचारू प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिए प्रभाग को लैन / वैन द्वारा सह प्रभागों, संपर्क कार्यालय और अनुसंधान एवं विकास केंद्रों के साथ जोड़ा गया है।
लागत, समय और गुणवत्ता प्रभावकारिता सुनिश्चित करने के लिए लीन विनिर्माण संकल्पना के निरंतर प्रयोग को प्रोत्साहित किया जा रहा है।
संसाधनों के इष्टतम उपयोग के साथ एक कुशल और उत्पादक कार्यरत पारिस्थितिक तंत्र बनाने के लिए ईआरपी (ERP) लागू किया गया है।
प्रभाग में स्व-विकसित वेब आधारित सूचना पोर्टल के माध्यम से डिज़ाइन मानकों, जर्नलों, बीओएफ और एम-पार्ट्स आदि की स्थिति ऑनलाइन रूप में उपलब्ध है।
प्रभाग में परियोजनाओं की मॉनिटरिंग के लिए प्रभागीय स्तर पर विकसित वेब आधारित समीक्षा और मॉनिटरिंग पोर्टल है।
प्रभाग के अधिकारी/कर्मचारी अपने काम करने के लिए नैतिक रूप से प्रतिबद्ध हैं। अधिकारियों / कर्मचारियों को विशेष रूप से संगठन के बाहर ग्राहकों / विक्रेताओं से बातचीत के दौरान नैतिकता सुनिश्चित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।
 
प्रभाग में विभिन्न प्लेटफार्मों और विभिन्न ग्राहकों के लिए विनिर्माण और मरम्मत / उपसाधनों के ओवरहाल के लिए आवश्यक प्रौद्योगिकी सुविधाएं / क्षमताएं हैं। इन सुविधाओं का संक्षिप्त  विवरण नीचे दिया गया है:
 
विनिर्माण क्षमताएँ
• एक माइक्रोन तक की सटीकता के साथ 0.2 9 से 450 एम एम  डायामीटर तक के कम्पोनेंटों की मशीनिंग।
• कैप्सूल विनिर्माण
• फ़िल्टर की कारोगेशन बनना
• बेलोज और डायाफ्राम का विनिर्माण
• व्हील की वाइब्रो स्ट्रेन्थनिंग
सुपर फिनिशिंग प्रक्रिया
ओरिफाइस लैपिंग/ बॉल लैपिंग
• होनिंग
2 लाइट बैंड के भीतर गोलाकारता प्राप्त करने के लिए गोलाकार लैपिंग
स्पूल और स्लीव मैचिंग
• पिस्टन और स्लिपर मैचिग
नल ग्राईंडिंग
 
संयोजन  और परीक्षण
उपकरणों, मैकेनिकल एवं ईंधन उपसाधनों के संयोजन एवं परीक्षण के लिए स्वच्छ / वातानुकूलित कमरे।
विमानन स्वीकृति मानकों को पूरा करने के लिए डेडिकेटेड टेस्ट उपस्करों और टेस्ट रिग, पूर्ण वातावरण परीक्षण सुविधाएं, संतुलन मशीनें और गर्म और ठंडे चैंबर हैं ।
• परीक्षण आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कंपन परीक्षण रिग, सेंट्रीफ़्यूगल परीक्षण रिग, आर्द्रता / गर्म और ठंडे चैंबर एवं अन्य परीक्षण क्षमताएँ।
 
निरीक्षण सुविधाएं
कम्पोनेंटस के गैर-विनाशकारी परीक्षण के लिए विनिर्मित कम्पोनेंटस और एन डी टी लैब के निरीक्षण के लिए एन.ए.बी.एल अनुमोदित भौतिक एवं रसायनिक प्रयोगशालाएँ ।
कोऑर्डिनेट मेजरिंग मशीनों (सी एम एम), प्रोफाइल प्रोजेक्टर, भूतल मापने के उपकरण, ऊँचाई गेज इत्यादि जैसे मौसम संबंधी उपकरणों की पूर्ण श्रृंखला।
 
हीट और सर्फ़ेस ट्रीटमेंट एवं पेंटिंग
 
• सभी प्रकार की स्टीलें, एल्यूमीनियम मिश्र धातु, कॉपर, निकल और टाइटेनियम मिश्र धातुओं के लिए केंद्रीकृत हीट ट्रीटमेंट सुविधाएँ।
वैमानिकीय अनुप्रयोगों में आवश्यक सभी प्रकार के प्लेटिंग , पोलिशिंग, सतह संरक्षण, और पेंटिंग प्रक्रियाओं के लिए केंद्रीकृत प्रक्रिया उपचार और पेंटिंग  सुविधाएं।
 
वेल्डिंग
 
• थिन मेटल बेलोज, कैप्सूल, स्टेटर पैक, ब्रश इत्यादि पर जटिल वेल्डिंग की सुविधा के लिए टीआईजी / आर्गन आर्क, स्पॉट और सीम वेल्डिंग उपकरण।
• माइक्रो प्लाज्मा वेल्डिंग
• कार्बन और रिलीथ कोटिंग
एरोनॉटिकल गुणवत्ता आश्वासन (डी जी एच क्यू ए) के महानिदेशालय द्वारा वेल्डरों अनुमोदित और प्रमाणित किया जाता है।
 
रबड़ और प्लास्टिक शॉप
 
• उपसाधनों के विनिर्माण और मरम्मत / ओवरहाल से संबंधित आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए रबर और प्लास्टिक शॉप उपलब्ध हैं
 
अन्य विशेष प्रौद्योगिकियाँ
 
• इलेक्ट्रिक स्पार्क विधि द्वारा कांस्य परत जमावट
• जिंक धातुकरण
• माइक्रो प्लाज्मा वेल्डिंग
• टिन-बिस्मुथ प्लेटिंग
• लोन्गट्यूड़िनल सीम वेल्डिंग
• ग्रेफाइट, टेफ्लॉन (रिल्सन) कोटिंग प्रक्रिया
• पॉलिमाइड वार्निश इंप्रेग्नेशन
• उच्च रबड़ भागों पर कार्बन लाइनिंग
• उप-शून्य उपचार
• 10-5 torr पर हीटिंग और कूलिंग की नियंत्रित दर पर वैक्यूम में मैग्नेटिक अन्नीयलिंग ।
• सेल्फ लुब्रिकेशन के लिए वी ए पी - II और मोलिब्डेनम सल्फाइड कोटिंग
 
प्रभाग में आउटसोर्सिंग गतिविधि का प्रारंभ 2003 से हुआ था। तब से प्रभाग ने सूक्ष्म (precision) कम्पोनेन्ट्स, टूलिंग तथा टेस्ट उपस्कर की आउटसोर्सिंग के लिए सब कॉन्ट्रैक्टर्स के चयन एवं आधार तैयार करने का कार्य शुरू किया। इस प्रभाग में प्रारंभ किए गए वर्तमान तथा नए प्रोजेक्टों के अत्यधिक लोड को संभालने के लिए यह आवश्‍यक है।
बाह्यस्रोत मुख्य रूप से निम्नलिखित क्षेत्रों में किया जाता है:
 
टर्निंग, मिलिंग, ड्रिलिंग, जिग बोरिंग, सेन्टरलेस ग्राइन्डिंग, लैपिंग आदि से संबंधित कम्पोनेंट्स की मशीनिंग ।
टूल , जिग्स एवं फिक्स्चर्स की मशीनिंग / फैब्रिकेशन में।
• होनिंग शॉट पीनिंग, नाइट्राइडिंग, टंगस्टन कार्बाइड कोटिंग, लेजर बीम वेल्डिंग, इलेक्ट्रॉन बीम वेल्डिंग इत्यादि जैसी विशिष्ट प्रक्रियाएं।
• उप - संयोजन और संयोजन कार्य जैसे कि कॉइल बाईंडिंग, हाइड्रोलिक असेंबली।
• हीट ट्रीटमेंट और प्लेटिंग इत्यादि।
लैपिंग गतिविधियों की इनसोर्सिंग
प्रचालनों (operations) की गंभीरता के आधार पर कम्पोनेन्ट्स का वर्गीकरण विभिन्न वर्गों जैसे ए, बी एवं सी में वर्गीकृत किया जाता है। सब कॉन्ट्रैक्टरों की  क्षमताओं के  आधार पर प्रभाग में रजिस्टर्ड  वेन्डरों  को टेंडर  जारी  किए  जाते हैं। स्थापित सुविधाओं व क्षमताओं से युक्त , सीखने के लिए इच्छुक तथा वैमानिक गुणवत्ता उत्पादों के उत्पादन में उत्कृष्ट संगठनों को विभिन्न उड़नयोग्य प्रोजेक्टों के लिए अपेक्षित कम्पोनेन्टों की आउटसोर्सिंग के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।
 
नए सब-कोंट्रेक्टरों के पंजीकरण के लिए, निर्धारित फॉर्म हमारी वेबसाइट (www.hal-india.com) से लोड किए जा सकते है और आवश्यक दस्तावेजों के साथ पंजीकरण प्रक्रिया के लिए इस प्रभाग को अग्रेषित किए जा सकते हैं।
 
उपसाधन प्रभाग के प्रमाणन हैं :
 
एरोस्पेस वाहनों एवं उपस्करों एवं सिविल तथा रक्षा अनुप्रयोगों के उपकरणों के अभिकल्प और विकास, विनिर्माण, रखरखाव, आपूर्ति और उपसाधनों की सर्विसिंग के लिए प्रभाग में  AS9100C, AS9100D प्रमाणन की प्रक्रिया   में है।
• वातावरण प्रबंधन प्रणाली के लिए ISO14001
• केंद्रीय प्रयोगशाला (भौतिक, रासायनिक प्रयोगशाला और गैर विनाशकारी परीक्षण प्रयोगशाला) के लिए NABL का अनुमोदन।
 
उपसाधन प्रभाग के अनुमोदन हैं:
• सैन्य विमानन उत्पादों और सेवाओं के लिए महानिदेशक एयरोनॉटिकल गुणवत्ता आश्वासन द्वारा AFQMS अनुमोदन।
• विनिर्माण तथा मरम्मत के लिए डी.जी.सी.ए.(DGCA), भारत सरकार से CSR -21 और CAR 145 की स्वीकृति
वर्तमान विनिर्मान श्रेणी के उत्पाद
  • हाइड्रॉलिक प्रणाली एवं विद्युत नियंत्रण (पावर कन्ट्रोल)
हाइड्रॉलिक पंप, एक्युमुलेटर्स, एक्चुएटर्स, इलेक्ट्रो-सेलेक्टर्स, बूटस्ट्रैप रिजर्वायर्स तथा विभिन्न प्रकार के वॉल्व
  • वातावरण नियंत्रण प्रणाली 
कोल्ड एयर यूनिट, वॉटर एक्स्ट्रैक्टर्स, नॉन रिटर्न वॉल्व एवं वेन्चुरीज़
  • इंजन फ्यूल नियंत्रण प्रणाली
  फ्यूल आफ्टर बर्नर रेगुलेटर एवं डिस्ट्रिब्यूटर, मेन फ्यूल डिस्ट्रिब्यूटर, रेगुलेटर तथा आफ्टर बर्नर पम्प, प्लंगर पम्प्स, फ्यूल मीटरींग डिवाइस ।
  • इन्स्ट्रुमेंट्स
  इलेक्ट्रिकल इंडिकेटर्स, फ्यूल क्वांटिटी तथा फ्लो मीटरिंग इन्स्ट्रुमेंट्ससेन्सर्स एवं स्विचेज़, बैरोमीट्रिक इन्स्ट्रूमेंट्स, जाइरोस्कोपिंग, इन्स्ट्रूमेंट्स, इलेक्ट्रोकैमिकल इन्स्ट्रूमेंट्स।
  • इलेक्ट्रिकल पावर जनरेशन तथा नियंत्रण प्रणाली
    ए सी/डी सी जेनरेटर, कन्ट्रोल एवं प्रोटेक्शन यूनिट, ए सी एवं डी सी मास्टर बॉक्स, इन्वर्टर्स, ट्रांसफॉर्मर रेक्टिफायर यूनिट, एक्चुएटर्स
  • अन्डरकैरिज, व्हील्स एवं ब्रेक्स
    मेन एवं नोज़ अंडर कैरिज, मेन एवं नोज़ व्हील, ब्रेक सिस्टम एल आर यू
  • टेस्ट रिग्स
  डेडिकेटेड टेस्ट रिग्स, कस्टम-बिल्ट फ्यूल/हाइड्रॉलिक टेस्ट रिग्स एवं इलेक्ट्रिकल टेस्ट रिग्स।
 
प्रभाग उपसाधनों की मरम्मत और ओवरहाल का कार्य होता है। विशेषज्ञ इंजीनियरों / तकनीशियनों की टीम को नियुक्त करके प्रभाग द्वारा साइट रिपेयर सुविधाओं की भी पेशकश की जा रही है। प्रभाग द्वारा  ये सेवाएँ  निम्न के लिए प्रदान की जा रही हैं :
 
सैन्य विमान
• मिग सीरीज
• ए एन - 32
• किरण एमके- I / एमके- II
• एलसीए
• जगुआर
• मिराज -2000
• सु -30 एम के आई
 
 
सिविल एयरक्राफ्ट
• डोर्नियर-228
• एवीआरओ एचएस -748
 
हेलीकाप्टर
• चेतक (अलौएट)
• चीता (लामा)
• ए एल एच  (भारतीय वायु सेना/ नौसेना / तट रक्षक / सिविल)
 
• भारतीय वायुसेना / सेना / नौसेना / तट रक्षक
• रक्षा अनुसंधान एवं विकास प्रयोगशालाएँ / अंतरिक्ष विभाग
• राज्य सरकार नागरिक उड्डयन / आयुध कारखानों / कॉर्पोरेट सेक्टर
• फ्लाइंग अकादमियों और शैक्षिक संस्थानों
• सिविल ग्राहक / एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड
• दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य पूर्व और अफ्रीका के देशों के रक्षा बलों
• सहयोगियों / लाइसेंसधारकों
 
निर्यात में मिग सीरीज एयरक्राफ्ट, सु -30 एमकेआई, डोर्नियर डीओ -228, चीता (लामा) / चेतक (अलौएट III), एडवांस लाइट हेलीकॉप्टर (एएलएच) हेलीकॉप्टर से संबंधित नए उपसाधनों की आपूर्ति स्पेयर्स एवं उपसाधनों की मरम्मत एवं ओवरहॉल रॉयल वायुसेना ओमान, एयर मॉरीशस, मॉरीशस पुलिस, रॉयल मलेशियाई वायुसेना (आरएमएएफ) इज़राइल विमान उद्योग, नामीबिया सरकार, अफगानिस्तान सरकार, सेशेल्स सरकार, सूरीनाम सरकार आदि के लिए यूएवी शामिल है। इसके आतिरिक्त, निर्यात आवश्यकताओं को पूरा करने के  लिए प्रभाग उपसाधनों के अभिकल्प, विकास और विनिर्माण में कार्य भी कर रहा है।
 
कार्यकारी निदेशक
उपसाधन प्रभाग
हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड
लखनऊ 226 016, भारत
टेलीफोन: + 9 1 522 - 2350 995/9 6/9 7/98 23511 9 6
फैक्स: + 9 1 522 - 2340335