नेतृत्व
डॉ टेस्सी थॉमस
एफएनएई, प्रतिष्ठित वैज्ञानिक एवं महानिदेशक, एरोनॉटिक्ल सिस्टम्स
डॉ टेस्सी थॉमस
डॉ टेस्सी थॉमस इनस्टिट्यूट ऑफ आर्नमेंट्स से गाइडेड मिसाइल की विषय के साथ मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर हैं तथा इन्होंने इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय से प्रचालन प्रबंधन में एमबीए भी किया है । इन्हें जवाहरलाल नेहरू टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, हैदराबाद द्वारा मिसाइल गाइडेंस में डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी (पीएचडी) से सम्मानित किया गया है ।
डॉ टेस्सी थॉमस वर्तमान में बैंगलोर के एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट इंस्टीट्यूशन में एयरोनॉटिकल सिस्टम्स के महानिदेशक के रूप में कार्यरत हैं तथा डीआरडीओ में 30 वर्षों से भी अधिक सेवा की है। इन्होंने बहु-आयामी भूमिकाएं और जिम्मेदारियां निभायी थीं और गाइडेंस, नियंत्रण, जड़त्व नेविगेशन, ट्राजेक्टरी सिमुलेशन और मिशन डिजाइन जैसे विभिन्न क्षेत्रों में योगदान दिया था । डॉ टेस्सी थॉमस ने डीआरडीओ में विभिन्न महत्वपूर्ण कार्यभार संभाले थे, जिसमें अग्नि-4 प्रोजेक्ट हेतु परियोजना निदेशक, लांग रेज अग्नि-5 प्रणाली हेतु परियोजना निदेशक (मिशन), निदेशक, उन्नत प्रणाली प्रयोगशाला, डीआरडीओ शामिल थे।

डॉ टेस्सी थॉमस इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च, तिरुवनंतपुरम और इंडियन सोसाइटी फॉर एडवांसमेंट ऑफ मैटेरियल्स एंड प्रोसेस इंजीनियरिंग, हैदराबाद चाप्टर के गवर्नर बोर्ड के अध्यक्ष हैं। डॉ टेस्सी थॉमस विज्ञान, प्रौद्योगिकी और इंजीनियरिंग से संबंधित विभिन्न अन्य व्यावसायिक संस्थानों और सोसाइटी में भी सदस्य हैं।

डॉ टेस्सी थॉमस को विभिन्न प्रतिष्ठित पुरस्कारों / सम्मानों से सम्मानित किया गया है, जिसमें भारत के माननीय राष्ट्रपति से भारत की पहली मिसाइल महिला के लिए 21/01/2018 को "फर्स्ट लेडीज़" अवॉर्ड शामिल है, जो असाधारण महिला के रूप में अपने क्षेत्र की सीमाओं से बढ़कर अपने आपको विकसित किया है ।