नेतृत्व
रियर एडमिरल के सी शेखर एवीएसएम, वीएसएम (सेवानिवृत्त)
.
रियर एडमिरल के सी शेखर एवीएसएम, वीएसएम (सेवानिवृत्त)
रियर एडमिरल के.सी. शेखर जुलाई 1972 में भारतीय नौसेना में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र थे । इन्होंने 36 वर्षों तक भारतीय नौसेना में सेवा की है ।

भारतीय नौसेना में 36 वर्षों से भी अधिक समय के अपने लंबे सेवाकाल के दौरान, रियर एडमिरल के.सी. शेखर ने विभिन्न प्रमुख पदों पर कार्य किया था, जैसे निदेशक, डीएमडीई, हैदराबाद ; असमार, इथियोपिया में राजनयिक असाइनमेंट; नौसेना परियोजनाओं के उप महानिदेशक; एडमिरल अधीक्षक, नौसेना डॉकयार्ड, मुंबई; और नौसेना मुख्यालय में सामग्री के सहायक प्रमुख आदि । उन्हें विशाखापट्टणम में आईएनएस एकशिला की स्थापना की कमांडिंग का उत्कृष्ट उपाधि से सम्मानित किया गया था, जो भारतीय नौसेना की अग्रणी गैस टरबाइन ओवरहालिंग प्रतिष्ठान है ।
 रियर एडमिरल शेखर ने भारतीय नौसेना से समय से पूर्व सेवानिवृत्त हुए तथा 02 जुलाई 2008 से 31 अक्टूबर 2011 तक रीन्स ऑफ गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स (जीआरएसई) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला । इनके पास जनवरी 2011 से अगस्त 2011 तक हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड, विशाखापट्टणम के सी एंड एमडी के अतिरिक्त प्रभारी भी थी । जीआरएसई से अधिवर्षिता प्राप्त होने के उपरांत, रियर एडमिरल शेखर ने मुख्य प्रचालन अधिकारी या पूर्व में पिपवाव रक्षा एवं ऑफशोर इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड राजौला, गुजरात के रूप में 2015 तक कार्य किया ।  इन्होंने एक वर्ष की अवधि के लिए 2013 के दौरान भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड के स्वतंत्र निदेशक के रूप में भी कार्य किया था । वर्तमान में, रीयर एडमिरल शेखर मधुमेह एमवी अस्पताल, रॉयपुरम, चेन्नई के लिए स्वतंत्र निदेशक के रूप में कार्य कर रहे हैं।

रियर एडमिरल के.सी. शेखर को भारतीय नौसेना में इनके उत्कृष्ट योगदान के लिए दो मेधावी पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है नामतः अति विशिष्ट सेवल मेडल (एवीएसएम) एवं विशिष्ट सेवा मेडल (वीएसएम) ।