ओवरहॉल प्रभाग बेंगलूर
विमान की प्रमुख मरम्मत
भारत में सात दशकों से भी अधिक समय से ओवरहॉल प्रभाग सैन्य विमान के रखरखाव, मरम्मत करने अग्रणी  संगठन रहा है । 10 हेक्टर भू-भाग पर फैली हुई हमारी रखरखाव सुविधाओं में 5 हैंगर और 16 स्वतंत्र बेयस शामिल हैं, जो विशेष रूप से विमान और सहायक उपकरणों के लिए एमआरओ सेवाओं को प्रदान करने के लिए हैं । आधुनिक ग्राउंड सपोर्ट, ग्राउंड हैंडलिंग उपकरण और डीजीएचक्यूए विनिर्देशों के अनुरूप परीक्षक सहित सभी हैंगर सुसज्जित हैं । हमारे पास टैक्सी चेक, फ्लाइट ट्रायल आदि के संचालन के लिए प्रभाग के नज़दीक एक रन-वे भी है ।
इस तरह की व्यापक और कुशल सुविधाओं के साथ हम पिस्टन इंजन एयरक्राफ्ट से लेकर मिराज 2000 जैसे अत्याधुनिक विमानों तक के विमानों का कुल रखरखाव, मरम्मत करने के संबल प्रदान करने में सक्षम है ।
नियमित रखरखाव, मरम्मत के अलावा हम एयरफ्रेम पर विशेष घटक स्तर जैसे टेल प्लेन, फ्लैप्स, अंडर-कैरिएज दरवाजा, इंजन बे दरवाजा, एयर इंटेक्स, फिन, रुडर,विमान के ढांचे और पंखों पर पक्षियों के प्रहार से हुई क्षति की मरम्मत, जैसे कि हनीकॉम्ब पैनल, इंटीग्रल ईंधन टैंक मरम्मत और फ्लेक्सिबल ईंधन टैंक की प्रतिस्थापन का संरचनात्मक मरम्मत भी की जाती है । हमारी क्षमताओं में विमान के प्रमुख संरचनात्मक निरीक्षण / मरम्मत, दोष जाँच / मरम्मत, एनडीटी मरम्मत, संशोधित विमान पर सीजी का अनुमान, पेंट हटाने और विमान की पेंटिंग, नोस कोन मरम्मत, एओजी मरम्मत आदि शामिल हैं ।
हम कंपनी विशेष तकनीकी अनुदेश का अनुपालन (सीएसटीआई), कंपनी सेवा अनुदेश (सीएसआई) और तैयारी मानक (एसओपी) के अनुसार विमान घटकों के कार्य में वृद्धि और कालावधि के लिए संशोधन की अनुपालन और विश्वसनीयता सुनिश्चयन का भी पालन करते हैं । इंजीनियरिंग समर्थन और रखरखाव गतिविधियों को अत्यधिक कुशल तकनीशियनों और विभिन्न मूल उपकरण निर्माताओं से प्रशिक्षित योग्य इंजीनियरों द्वारा प्रदान किया जाता है ।
निर्माण स्थल पर ग्राहकों को रखरखाव सहायता
ओवरहॉल प्रभाग आईएएफ के विभिन्न ग्राहक अड्डों और गोवा नौसेना बेस में किरण और सी हैरियर विमान पर सैन्य विमानों का रखरखाव संबल प्रदान करता है ।
प्रभाग आउटस्टेशन बेसस पर विमान के रखरखाव के अलावा, परिचालन इकाइयों में 'जब चाहे तब' आवश्यकता के आधार पर विमान, इंजन, संशोधनों का रेट्रो-अनुपालन और स्नैग सुधार की मरम्मत भी करता है ।
विमान का एम आर ओ
जगुआर एयरक्राफ्ट
जगुआर विमान और सहायक उपकरणों की प्रमुख सेवा ।
जगुआर विमान ऑपरेटिंग बेस पर I और II लाइन सर्विसिंग के लिए तकनीकी विशेषज्ञों की प्रतिनियुक्ति ।
बेली लैंडिंग मरम्मत, युद्ध क्षति मरम्मत और बर्ड स्ट्राइक मरम्मत ।
ग्राहकों की आवश्यकता के अनुसार NAVWASS से DARIN II / DARIN III तक के विमान का उन्नयन ।
ग्राहकों की आवश्यकता, कनेक्टर परिवर्तन इत्यादि के आधार पर VOR/ILS/TACAN का अनुपालन और फैटिग सूचकांक संशोधन
आरडब्लूआर मोड, एसपीजे मोड, लेजर डेसिग्नेटेड पॉड, काउंटर मेशर डिस्पेंसिंग सिस्टम (सीएमडीएस), कॉकपिट लेजर डेसिग्नेशन प्रणाली (सीएलडीएस) के अनुपालन द्वारा ईसीएम क्षमताओं में वृद्धि ।